आपका नजरिया !

आपकी दुनिया ,आपका नजरिया !

यह पेज हमारे व्यूअरस\रीडर्स के लिए है। जो भी शायरी लिखने और पड़ने का शोक रखते है कृपया हमे अपनी शायरी नीचे ईमेल ब्लॉक के ज़रिये हमे सेंड करे हम आपका  दुनिया के प्रति  नज़रिये और आपके लिखे हुये शायरी  को इस पेज पर पब्लिश करेंगे । आप को अगर लगता है कुछ महान शायर की कुछ शायरी हमे इस पोर्टल मै पब्लिश करना चाहिए ।ज़रूर सेंड हमे करे।।

  

This is the page for our viewer and our motivators .Who send us good shayari and poetry .We publish is on our web portal and give them enragement. Everybody have there on NAZARIYA to see this world and the have there own experiences and we respect there Ek-Nazariya. 

Please keep writing and send us your Nobel words. We will try to publish here.

image9
shayari,shayari,shayari,shayari,shayari,shayari,shayari,shayari,शायरी,शायरी,शायरी,शायरी,शायरी,शायरी

 अजब चराग़ हूँ दिन रात जलता रहता हूँ 

मैं थक गया हूँ हवा से कहो बुझाए मुझे 

 मैं जिस की आँख का आँसू था 

उस ने क़द्र न की बिखर गया हूँ 

तो अब रेत से उठाए मुझे 


  From Dharmendra maurya 

image10

 बड़ी बेपरवाह सी गुजर रही थी ज़िंदगी ।। 

जब तक तुने परवाह नही की।। 


                              From  Tanu yadav 

image11

 कुछ इस तरह से गुज़ारी है ज़िन्दगी  मैंने.! 

जैसे तमाम उम्र किसी दूसरे के घर में रहा ..!!


From AlamNaama


                For more beautiful Shayari please visit. http://www.alamnaama.com/ 

image12

ये आग इस तरह लगी है ये धुआँ इस तरह उठा है ..!

कोई उसको जलाता है और कोई उसमे जलकर उड़ जाता है ..!

कोई उसको और वोह किसी और को उड़ा कर ले जा रहा है ..!!


  From Preeti Chouhan

image13

 दिल, नाम, नशा, मोहब्बत ओर जाम,
यही सब है एक मुकम्मल शायरी के नाम!!! 

From Gopi Yadav

आपका नजरिया !

Drop us a lines here!

I love to see you feedback here for improvement for this page

Ek Nazariya

chetan.yamger@gmail.com