image72

अजीम नज़्म

 हज़ारोन ख्वाइशीन ऐसी (मिर्जा गालिब) 

 जगजीत सिंह - मिर्जा गालिब की 'हर एक बात पे कहते हो' 

 मेफफिल-ए-मुशैरा में मिर्जा गालिब 

मुनव्वर राणा

राहत इंदोरी

जगजीत सिंह गज़ल

नज़्म