image36

 

"कभी कभी तो छलक पड़ती हैं यूँही आँखें

उदास होने का कोई सबब नहीं होता"

www.EkNazariya.com
Shayari, poetry,gazal ,sher, poem,hindi shayari,Ghalib shayari, sad shayari,love shayari,urdu shayari,movie shayri,Best shayari,old shayari Famous shayari, bashir badr shayari शायरी शायरी

 

लोग टूट जाते हैं एक घर बनाने में

तुम तरस नहीं खाते बस्तियाँ जलाने में

और जाम टूटेंगे इस शराब-ख़ाने में

मौसमों के आने में मौसमों के जाने में

हर धड़कते पत्थर को लोग दिल समझते हैं

उम्रें बीत जाती हैं दिल को दिल बनाने में

फ़ाख़्ता की मजबूरी ये भी कह नहीं सकती

कौन साँप रखता है उस के आशियाने में

दूसरी कोई लड़की ज़िंदगी में आएगी

कितनी देर लगती है उस को भूल जाने में

www.EkNazariya.com
Shayari, poetry,gazal ,sher, poem,hindi shayari,Ghalib shayari, sad shayari,love shayari,urdu shayari,movie shayri,Best shayari,old shayari Famous shayari, bashir badr shayari शायरी शायरी

 

अगर तलाश करूँ कोई मिल ही जाएगा

मगर तुम्हारी तरह कौन मुझ को चाहेगा

तुम्हें ज़रूर कोई चाहतों से देखेगा

मगर वो आँखें हमारी कहाँ से लाएगा

न जाने कब तिरे दिल पर नई सी दस्तक हो

मकान ख़ाली हुआ है तो कोई आएगा

मैं अपनी राह में दीवार बन के बैठा हूँ

अगर वो आया तो किस रास्ते से आएगा

तुम्हारे साथ ये मौसम फ़रिश्तों जैसा है

तुम्हारे बा'द ये मौसम बहुत सताएगा

www.EkNazariya.com
Shayari, poetry,gazal ,sher, poem,hindi shayari,Ghalib shayari, sad shayari,love shayari,urdu shayari,movie shayri,Best shayari,old shayari Famous shayari, bashir badr shayari शायरी शायरी

 

अगर यक़ीं नहीं आता तो आज़माए मुझे

वो आइना है तो फिर आइना दिखाए मुझे

अजब चराग़ हूँ दिन रात जलता रहता हूँ

मैं थक गया हूँ हवा से कहो बुझाए मुझे

मैं जिस की आँख का आँसू था उस ने क़द्र न की

बिखर गया हूँ तो अब रेत से उठाए मुझे

बहुत दिनों से मैं इन पत्थरों में पत्थर हूँ

कोई तो आए ज़रा देर को रुलाये मुझे

मैं चाहता हूँ कि तुम ही मुझे इजाज़त दो

तुम्हारी तरह से कोई गले लगाए मुझे

 

www.EkNazariya.com
Shayari, poetry,gazal ,sher, poem,hindi shayari,Ghalib shayari, sad shayari,love shayari,urdu shayari,movie shayri,Best shayari,old shayari Famous shayari, bashir badr shayari शायरी शायरी

अच्छा तुम्हारे शहर का दस्तूर हो गया

जिस को गले लगा लिया वो दूर हो गया

काग़ज़ में दब के मर गए कीड़े किताब के

दीवाना बे-पढ़े-लिखे मशहूर हो गया

महलों में हम ने कितने सितारे सजा दिए

लेकिन ज़मीं से चाँद बहुत दूर हो गया

तन्हाइयों ने तोड़ दी हम दोनों की अना!

आईना बात करने पे मजबूर हो गया

दादी से कहना उस की कहानी सुनाइए

जो बादशाह इश्क़ में मज़दूर हो गया

सुब्ह-ए-विसाल पूछ रही है अजब सवाल

वो पास आ गया कि बहुत दूर हो गया

कुछ फल ज़रूर आएँगे रोटी के पेड़ में

जिस दिन मिरा मुतालबा मंज़ूर हो गया

www.EkNazariya.com
Shayari, poetry,gazal ,sher, poem,hindi shayari,Ghalib shayari, sad shayari,love shayari,urdu shayari,movie shayri,Best shayari,old shayari Famous shayari, bashir badr shayari शायरी शायरी

 

अगर यक़ीं नहीं आता तो आज़माए मुझे

वो आइना है तो फिर आइना दिखाए मुझे

अजब चराग़ हूँ दिन रात जलता रहता हूँ

मैं थक गया हूँ हवा से कहो बुझाए मुझे

मैं जिस की आँख का आँसू था उस ने क़द्र न की

बिखर गया हूँ तो अब रेत से उठाए मुझे

बहुत दिनों से मैं इन पत्थरों में पत्थर हूँ

कोई तो आए ज़रा देर को रुलाये मुझे

मैं चाहता हूँ कि तुम ही मुझे इजाज़त दो

तुम्हारी तरह से कोई गले लगाए मुझे

www.EkNazariya.com
Shayari, poetry,gazal ,sher, poem,hindi shayari,Ghalib shayari, sad shayari,love shayari,urdu shayari,movie shayri,Best shayari,old shayari Famous shayari, bashir badr shayari शायरी शायरी

 

सर-ए-राह कुछ भी कहा नहीं कभी उस के घर मैं गया नहीं

मैं जनम जनम से उसी का हूँ उसे आज तक ये पता नहीं

उसे पाक नज़रों से चूमना भी इबादतों में शुमार है

कोई फूल लाख क़रीब हो कभी मैं ने उस को छुआ नहीं

ये ख़ुदा की देन अजीब है कि इसी का नाम नसीब है

जिसे तू ने चाहा वो मिल गया जिसे मैं ने चाहा मिला नहीं

इसी शहर में कई साल से मिरे कुछ क़रीबी अज़ीज़ हैं

उन्हें मेरी कोई ख़बर नहीं मुझे उन का कोई पता नहीं

image37
www.EkNazariya.com
Shayari, poetry,gazal ,sher, poem,hindi shayari,Ghalib shayari, sad shayari,love shayari,urdu shayari,movie shayri,Best shayari,old shayari Famous shayari, bashir badr shayari शायरी शायरी

 होंटों पे मोहब्बत के फ़साने नहीं आते

साहिल पे समुंदर के ख़ज़ाने नहीं आते

पलकें भी चमक उठती हैं सोने में हमारी

आँखों को अभी ख़्वाब छुपाने नहीं आते

दिल उजड़ी हुई एक सराए की तरह है

अब लोग यहाँ रात जगाने नहीं आते

यारो नए मौसम ने ये एहसान किए हैं

अब याद मुझे दर्द पुराने नहीं आते

उड़ने दो परिंदों को अभी शोख़ हवा में

फिर लौट के बचपन के ज़माने नहीं आते

इस शहर के बादल तिरी ज़ुल्फ़ों की तरह हैं

ये आग लगाते हैं बुझाने नहीं आते

अहबाब भी ग़ैरों की अदा सीख गए हैं

आते हैं मगर दिल को दुखाने नहीं आते

www.EkNazariya.com
Shayari, poetry,gazal ,sher, poem,hindi shayari,Ghalib shayari, sad shayari,love shayari,urdu shayari,movie shayri,Best shayari,old shayari Famous shayari, bashir badr shayari शायरी शायरी

 हमारा दिल सवेरे का सुनहरा जाम हो जाए

चराग़ों की तरह आँखें जलें जब शाम हो जाए

कभी तो आसमाँ से चाँद उतरे जाम हो जाए

तुम्हारे नाम की इक ख़ूब-सूरत शाम हो जाए

अजब हालात थे यूँ दिल का सौदा हो गया आख़िर

मोहब्बत की हवेली जिस तरह नीलाम हो जाए

समुंदर के सफ़र में इस तरह आवाज़ दे हम को

हवाएँ तेज़ हों और कश्तियों में शाम हो जाए

मुझे मालूम है उस का ठिकाना फिर कहाँ होगा

परिंदा आसमाँ छूने में जब नाकाम हो जाए

उजाले अपनी यादों के हमारे साथ रहने दो

न जाने किस गली में ज़िंदगी की शाम हो जाए

www.EkNazariya.com
Shayari, poetry,gazal ,sher, poem,hindi shayari,Ghalib shayari, sad shayari,love shayari,urdu shayari,movie shayri,Best shayari,old shayari Famous shayari, bashir badr shayari शायरी शायरी

 हमारा दिल सवेरे का सुनहरा जाम हो जाए

चराग़ों की तरह आँखें जलें जब शाम हो जाए

कभी तो आसमाँ से चाँद उतरे जाम हो जाए

तुम्हारे नाम की इक ख़ूब-सूरत शाम हो जाए

अजब हालात थे यूँ दिल का सौदा हो गया आख़िर

मोहब्बत की हवेली जिस तरह नीलाम हो जाए

समुंदर के सफ़र में इस तरह आवाज़ दे हम को

हवाएँ तेज़ हों और कश्तियों में शाम हो जाए

मुझे मालूम है उस का ठिकाना फिर कहाँ होगा

परिंदा आसमाँ छूने में जब नाकाम हो जाए

उजाले अपनी यादों के हमारे साथ रहने दो

न जाने किस गली में ज़िंदगी की शाम हो जाए

image38
www.EkNazariya.com
Shayari, poetry,gazal ,sher, poem,hindi shayari,Ghalib shayari, sad shayari,love shayari,urdu shayari,movie shayri,Best shayari,old shayari Famous shayari, bashir badr shayari शायरी शायरी

 

उदासी आसमाँ है दिल मिरा कितना अकेला है

परिंदा शाम के पुल पर बहुत ख़ामोश बैठा है

मैं जब सो जाऊँ इन आँखों पे अपने होंट रख देना

यक़ीं आ जाएगा पलकों तले भी दिल धड़कता है

तुम्हारे शहर के सारे दिए तो सो गए कब के

हवा से पूछना दहलीज़ पे ये कौन जलता है

अगर फ़ुर्सत मिले पानी की तहरीरों को पढ़ लेना

हर इक दरिया हज़ारों साल का अफ़्साना लिखता है

कभी मैं अपने हाथों की लकीरों से नहीं उलझा

मुझे मालूम है क़िस्मत का लिक्खा भी बदलता है

www.EkNazariya.com
Shayari, poetry,gazal ,sher, poem,hindi shayari,Ghalib shayari, sad shayari,love shayari,urdu shayari,movie shayri,Best shayari,old shayari Famous shayari, bashir badr shayari शायरी शायरी

 ख़ुदा हम को ऐसी ख़ुदाई न दे

कि अपने सिवा कुछ दिखाई न दे

ख़ता-वार समझेगी दुनिया तुझे

अब इतनी ज़ियादा सफ़ाई न दे

हँसो आज इतना कि इस शोर में

सदा सिसकियों की सुनाई न दे

ग़ुलामी को बरकत समझने लगें

असीरों को ऐसी रिहाई न दे

ख़ुदा ऐसे एहसास का नाम है

रहे सामने और दिखाई न दे

www.EkNazariya.com
Shayari, poetry,gazal ,sher, poem,hindi shayari,Ghalib shayari, sad shayari,love shayari,urdu shayari,movie shayri,Best shayari,old shayari Famous shayari, bashir badr shayari शायरी शायरी

 

यूँही बे-सबब न फिरा करो कोई शाम घर में रहा करो

वो ग़ज़ल की सच्ची किताब है उसे चुपके चुपके पढ़ा करो

कोई हाथ भी न मिलाएगा जो गले मिलोगे तपाक से

ये नए मिज़ाज का शहर है ज़रा फ़ासले से मिला करो

अभी राह में कई मोड़ हैं कोई आएगा कोई जाएगा

तुम्हें जिस ने दिल से भुला दिया उसे भूलने की दुआ करो

मुझे इश्तिहार सी लगती हैं ये मोहब्बतों की कहानियाँ

जो कहा नहीं वो सुना करो जो सुना नहीं वो कहा करो

कभी हुस्न-ए-पर्दा-नशीं भी हो ज़रा आशिक़ाना लिबास में

जो मैं बन सँवर के कहीं चलूँ मिरे साथ तुम भी चला करो

नहीं बे-हिजाब वो चाँद सा कि नज़र का कोई असर न हो

उसे इतनी गर्मी-ए-शौक़ से बड़ी देर तक न तका करो

ये ख़िज़ाँ की ज़र्द सी शाल में जो उदास पेड़ के पास है

ये तुम्हारे घर की बहार है उसे आँसुओं से हरा करो

www.EkNazariya.com
Shayari, poetry,gazal ,sher, poem,hindi shayari,Ghalib shayari, sad shayari,love shayari,urdu shayari,movie shayri,Best shayari,old shayari Famous shayari, bashir badr shayari शायरी शायरी

घरों पे नाम थे नामों के साथ ओहदे थे 

बहुत तलाश किया कोई आदमी न मिला 

--------------------------------------------

 

तुम मोहब्बत को खेल कहते हो 

हम ने बर्बाद ज़िंदगी कर ली 

--------------------------------------------

 

अगर तलाश करूँ कोई मिल ही जाएगा 

मगर तुम्हारी तरह कौन मुझ को चाहेगा 

--------------------------------------------

 

गुफ़्तुगू उन से रोज़ होती है 

मुद्दतों सामना नहीं होता  

www.EkNazariya.com
Shayari, poetry,gazal ,sher, poem,hindi shayari,Ghalib shayari, sad shayari,love shayari,urdu shayari,movie shayri,Best shayari,old shayari Famous shayari, bashir badr shayari शायरी शायरी

 

अभी राह में कई मोड़ हैं कोई आएगा कोई जाएगा 

तुम्हें जिस ने दिल से भुला दिया उसे भूलने की दुआ करो 

 -------------------------------------------

 

इसी शहर में कई साल से मिरे कुछ क़रीबी अज़ीज़ हैं 

उन्हें मेरी कोई ख़बर नहीं मुझे उन का कोई पता नहीं 

 -------------------------------------------- 

    

भला हम मिले भी तो क्या मिले वही दूरियाँ वही फ़ासले 

न कभी हमारे क़दम बढ़े न कभी तुम्हारी झिजक गई  

 -------------------------------------------- 

 

आशिक़ी में बहुत ज़रूरी है 

बेवफ़ाई कभी कभी करना 

www.EkNazariya.com
Shayari, poetry,gazal ,sher, poem,hindi shayari,Ghalib shayari, sad shayari,love shayari,urdu shayari,movie shayri,Best shayari,old shayari Famous shayari, bashir badr shayari शायरी शायरी

 

शोहरत की बुलंदी भी पल भर का तमाशा है 

जिस डाल पे बैठे हो वो टूट भी सकती है 

 -------------------------------------------- 

  

आँखों में रहा दिल में उतर कर नहीं देखा 

कश्ती के मुसाफ़िर ने समुंदर नहीं देखा

 --------------------------------------------  

 

भूल शायद बहुत बड़ी कर ली 

दिल ने दुनिया से दोस्ती कर ली 

 -------------------------------------------- 

  

पत्थर मुझे कहता है मिरा चाहने वाला 

मैं मोम हूँ उस ने मुझे छू कर नहीं देखा 

www.EkNazariya.com
Shayari, poetry,gazal ,sher, poem,hindi shayari,Ghalib shayari, sad shayari,love shayari,urdu shayari,movie shayri,Best shayari,old shayari Famous shayari, bashir badr shayari शायरी शायरी

लोग टूट जाते हैं एक घर बनाने में 

तुम तरस नहीं खाते बस्तियाँ जलाने में 

--------------------------------------------

 

दुश्मनी जम कर करो लेकिन ये गुंजाइश रहे 

जब कभी हम दोस्त हो जाएँ तो शर्मिंदा न हों 

--------------------------------------------

 

कुछ तो मजबूरियाँ रही होंगी 

यूँ कोई बेवफ़ा नहीं होता 

--------------------------------------------


न जी भर के देखा न कुछ बात की 

बड़ी आरज़ू थी मुलाक़ात की 

www.EkNazariya.com
Shayari, poetry,gazal ,sher, poem,hindi shayari,Ghalib shayari, sad shayari,love shayari,urdu shayari,movie shayri,Best shayari,old shayari Famous shayari, bashir badr shayari शायरी शायरी

यहाँ लिबास की क़ीमत है आदमी की नहीं 

मुझे गिलास बड़े दे शराब कम कर दे 

 -------------------------------------------

-  

हर धड़कते पत्थर को लोग दिल समझते हैं 

उम्रें बीत जाती हैं दिल को दिल बनाने में 

 -------------------------------------------- 

  

बड़े लोगों से मिलने में हमेशा फ़ासला रखना 

जहाँ दरिया समुंदर से मिला दरिया नहीं रहता 

 -------------------------------------------- 


मोहब्बतों में दिखावे की दोस्ती न मिला 

अगर गले नहीं मिलता तो हाथ भी न मिला  

www.EkNazariya.com
Shayari, poetry,gazal ,sher, poem,hindi shayari,Ghalib shayari, sad shayari,love shayari,urdu shayari,movie shayri,Best shayari,old shayari Famous shayari, bashir badr shayari शायरी शायरी

हम तो कुछ देर हँस भी लेते हैं 

दिल हमेशा उदास रहता है 

 -------------------------------------------- 

 

तुम मुझे छोड़ के जाओगे तो मर जाऊँगा 

यूँ करो जाने से पहले मुझे पागल कर दो 

 --------------------------------------------  


कोई हाथ भी न मिलाएगा जो गले मिलोगे तपाक से 

ये नए मिज़ाज का शहर है ज़रा फ़ासले से मिला करो 

 -------------------------------------------- 

 

ख़ुदा की इतनी बड़ी काएनात में मैं ने 

बस एक शख़्स को माँगा मुझे वही न मिला 

Feedback here for bashir badr Sher

Drop us a line!

I love to see you feedback here for improvement for this page

Ek Nazariya

chetan.yamger@gmail.com